IPL की पिच पर ताल ठोक सकते है Baba Ramdev

चीन से बढ़ते तनाव के बीच देशभर में चीनी कंपनियों को लेकर विरोध का माहौल है। कई चीनी कंपनियों ने भारत में अपना कारोबार

नई दिल्ली (समरजीत अधिकारी): चीन से बढ़ते तनाव के बीच देशभर में चीनी कंपनियों को लेकर विरोध का माहौल है। कई चीनी कंपनियों ने भारत में अपना कारोबार समेट लिया है। अब सबसे बड़ा खतरा चीनी मोबाइल कंपनी वीवो (Chinese Mobile Company Vivo) पर मंडरा रहा है। ये कंपनी इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) को टाइटल स्पॉन्सर देती है। साल 2020 के लिए इसे स्पॉन्सरशिप को रद्द कर दिया गया है। ऐसे कंपनी अपनी व्यावसायिक पहचान (Business identity) को लेकर काफी संशय में है। रिपोर्टों के मुताबिक बाबा रामदेव की अगुवाई वाली कंपनी पतंजलि आयुर्वेद, चीनी कंपनी वीवो से टाइटल स्पॉन्सर (Title sponsor) के खिताब छीन सकती है। हाल ही में योग गुरु बाबा रामदेव ने आईपीएल सीज़न 2020 के लिए मुख्य प्रायोजक बनने की इच्छा ज़ाहिर की है। BCCI अब Patanjali Ayurved से IPL का मेन स्पॉन्सर बनने के लिए बातचीत कर सकता है।

ऐसे में कयास लगाये जा रहे है कि, दुनिया में क्रिकेट इवेंट (Cricket event) की सबसे मंहगी लीग अब भारतीय देशी कंपनी की झोली में आने की पूरी संभावना बनती दिख रही है। बोली लगाने की दौड़ में पंतजलि शामिल हो सकता है। इस बात की पुष्टि खुद पतंजलि के प्रवक्ता एस.के. तिजारावाला (Patanjali spokesperson S.K. Tijarawala) ने की है। उनके मुताबिक कंपनी इस मामले पर गंभीरता से विचार कर रही है। इससे कंपनी को वैश्विक पहचान और अन्तर्राष्ट्रीय विश्वसनीयता मिलेगी। फिलहाल इस मामले पर BCCI की IPL आयोजन समिति का कोई औपचारिक बयान सामने नहीं आया है।

मुख्य प्रायोजनकर्ता बनने की दौड़ में BYJU, JIO और TATA Group खासतौर से शामिल है। कोरोना महामारी की वज़ह से काफी समय बाद IPL के तौर पर बड़ा स्पोटर्स इवेंट होने वाला है। इसके जरिये बेहतरीन एडवरटाइजमेंट और मार्केटिंग (Advertising and Marketing) का मौका हासिल करने के लिए कंपनियों में होड़ मची हुई है। अगर पतंजलि इस दौड़ में जीत जाती है तो, वो अपने लोकल उत्पादों की ब्रांडिंग ग्लोबल मार्केट में करने में कामयाब रहेगी। लेकिन एक बात तय है कि, जितनी रकम की अदायगी वीवो स्पॉन्सरशिप (Vivo sponsorship) हासिल करने के लिए करती थी। उतना पैसा देशी कंपनियां नहीं दे पायेगी।

दूसरी ओर इस आईपीएल में खिलाड़ियों की बोली से जुड़ा कार्यक्रम भी स्थगित कर दिया गया है। इस साल मेगा ऑक्शन ईवेंट (Auction event) एहतियातन टाल दिया गया है। ऐसे में तकरीबन सभी खिलाड़ी पूर्ववत टीम में खेलते नज़र आ सकते है। 19 सितंबर से 10 नवंबर तक संयुक्त अरब अमीरात (United Arab Emirates) में होने वाले आईपीएल के लिए सभी खिलाड़ियों में अपने स्तर पर प्रैक्टिस सेशन में हिस्सा लेना शुरू कर दिया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More