UP की कानून-व्यवस्था में लगातार गिरावट, इस छात्रा की मौत से दहला Bulandshahr

उत्तर प्रदेश में राम मंदिर को काम जोरों पर है। लेकिन अब सूबे की जनता राम राज का इंतजार कर रही है। यूपी (UP) क्राइम ग्राफ

नई दिल्ली (शौर्य यादव): उत्तर प्रदेश में राम मंदिर को काम जोरों पर है। लेकिन अब सूबे की जनता राम राज का इंतजार कर रही है। यूपी (UP) क्राइम ग्राफ के मामले तेजी से आगे बढ़ रहा है। आये दिन अपराधियों के साथ पुलिस-प्रशासन के गठजोड़ की खब़रे सुर्खियों में छायी रहती है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भले ही नाराजगी ज़ाहिर करे लेकिन पुलिसिया रवैया जस का तस बना हुआ है। हाल ही बुलन्दशहर (Bulandshahr) में हुई एक छात्रा की मौत ने प्रदेश में कानून व्यवस्था की पोल एक बार फिर खोल दी है।

हादसे में छात्रा सुदीक्षा भाटी (Sudiksha Bhati) की मौत हो चुकी है। परिजनों के मुताबिक पीड़िता अपने भाई के साथ मामा से मिलने के लिए बुलंदशहर से सिकंदराबाद (Secunderabad) के लिए निकली। बीच रास्ते में कुछ मनचलों ने पीड़िता की पीछा करना शुरू कर दिया। फब्तियां कसने के साथ रास्ते भर में स्टंट भी करते रहे। एकाएक मनचलों ने अपनी बाइक सुदीक्षा के चाचा सामने लाकर ब्रेक लगा दिये। मनचलों से बचने के चक्कर में सुदीक्षा और और उसके चाचा सड़क पर गिर पड़े। जिसके कारण दोनों को गंभीर चोटे आयी। ज़्यादा खून बहने और गंभीर चोटों की वज़ह से पीड़िता ने मौके पर ही दम तोड़ दिया।

अब मामले में बुलन्दशहर पुलिस लीपापोती कर रही है। पुलिस का कहना है कि इस मामले में परिवार वालों की ओर से जो तहरीर दी गयी थी, वो वापस ले ली गयी है। इसलिए मामला दर्ज नहीं किया गया। हादसे के चलते पीड़ित परिवार काफी सदमें में है। सुदीक्षा का परिवार बेहद साधारण पृष्ठभूमि से है। उनके पिता ढ़ाबा चलाकर गुजर-बसर करते है। पीड़िता होनहार छात्रा थी। स्कॉलरशिप के दम पर वो अमेरिका के बॉबसन कॉलेज (Bobson college) में पढ़ाई कर रही थी। एचसीएल (HCL) की अगुवाई वाले शिव नाडर फाउंडेशन (Shiv Nadar Foundation) से उसे तकरीबन 4 करोड़ रूपये की छात्रवृत्ति मिली थी।  

अमेरिका में लॉकडाउन के चलते पीड़िता हाल ही में अपने गृहनगर धूम मानिकपुर गांव बुलन्दशहर लौटी थी। प्रतिभावान होने के चलते साल 2018 के दौरान सुदीक्षा को अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने सम्मानित किया था। आने वाले 20 अगस्त को उसे वापस अमेरिका लौटना था। जिसके पहले ये बड़ा हादसा हो गया। चंद मनचलों की शोहदगिरी और पुलिसिया लापरवाही (Police negligence) के चलते एक होनहार छात्रा को अपनी जान गंवानी पड़ी।

मामले पर बीएसपी सुप्रीमो मायावती (BSP Supremo Mayawati) ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा- बुलन्दशहर में अपने चाचा के साथ बाईक पर जा रही होनहार छात्रा सुदीक्षा भाटी को मनचलों की वजह से अपनी जान गंवानी पड़ी, जो अति-दुःखद, अति-शर्मनाक व अति-निन्दनीय। बेटियाँ आखिर कैसे आगे बढ़ेंगी? यूपी सरकार (UP Government) तुरन्त दोषियों के विरूद्ध सख्त कानूनी कार्रवाई करे, बीएसपी की यह पुरजोर माँग है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More