Terrorist in J&K: आंतकी हमला दो ज़वान शहीद, दिल्ली सहित पूरे देश में Intelligence Alert

स्वतन्त्रता दिवस की तैयारियों के बीच आज श्रीनगर के बाहरी इलाके नौगाम (Naugam on the outskirts of Srinagar) में पुलिस

नई दिल्ली (विश्वरूप प्रियदर्शी): स्वतन्त्रता दिवस की तैयारियों के बीच आज श्रीनगर के बाहरी इलाके नौगाम (Naugam on the outskirts of Srinagar) में पुलिस दल पर हुए हमले में दो पुलिस के ज़वान शहीद हो गये और एक ज़वान गंभीर जख़्मों से अस्पताल में जूझ रहा है। जिसके चलते पूरे देश में Intelligence Alert जारी कर दिया गया है। फिलहाल स्वतन्त्रता दिवस और इस आंतकी वारदात के बाद दिल्ली सहित सभी राज्यों की राजधानियों के लिए इंटेलीजेंस ब्यूरो (Intelligence Bureau) ने अलर्ट जारी कर दिया है। स्थानीय पुलिस सूत्रों के अनुसार पुलिस के सूचना मिली थी कि, दहशतगर्त स्वतन्त्रता दिवस से पहले मोबालाइजेशन कर किसी वारदात को अन्ज़ाम दे सकते है। जिसके बाद वरिष्ठ अधिकारियों की अगुवाई में सर्च ऑप्रेशन शुरू किया गया।

इस बीच जम्मू-कश्मीर पुलिस ने नौगांम बाइपास के पास बैरिगेटिंग करके छानबीन करनी शुरू की। जहां घात लगाये आंतकियों ने पुलिस टीम पर अंधाधुंध फायर खोल दिया। इसी बरामूला में छापेमारी के दौरान सुरक्षा बलों ने पाकिस्तानी करेंसी सहित वायरलेस सेट, नेविगेशन सिस्टम, ग्रेनेड, पिस्टल और जिंदा कारतूसों (Navigation systems, grenades, pistols and live cartridges) की बरामदगी की है। नौगांम और बारामूला में हुई इस घटना के बाद पुलिस और सेना का संयुक्त छापामार दस्ता (Police and army joint guerrilla squad) इलाके में दबिश दे रहा है। फिलहाल सुरक्षा बलों द्वारा किसी तरह के असॉल्ट या काउंटर इर्न्सजेंसी आप्रेशंस की बात सामने नहीं आयी है।

खुफ़िया सूचना के आधार पर लाल किले पर होने वाले स्वतन्त्रता दिवस समारोह की सुरक्षा को और ज़्यादा पुख़्ता किया गया है। छह चक्रीय सुरक्षा घेरे के साथ चांदनी चौक, दरियागंज और राजघाट पर सुरक्षा बढ़ा दी गयी है। दिल्ली से सटे सभी राज्यों की सीमाओं को आज रात सील कर दिया जायेगा। दिल्ली पुलिस के बीट कांस्टबेल्स (Beat Constables of Delhi Police) गेस्ट हाउस, होटल और धर्मशालाओं में रूके यात्रियों की सिक्योरिटी वेरिफिकेशन कर रहे है। आज रात से ही उच्चस्तरीय हवाई निगरानी प्रणाली (High level aerial surveillance system) को सक्रिय कर दिया जायेगा।

साथ ही RPSF और GRP को भी हाईअलर्ट मोड पर रखा गया है। खुफिया विभाग को जम्मू-कश्मीर के अलावा बिहार की तरफ से नक्सली चुनौतियों के सुरक्षा इनपुट्स मिले है। जानकारी के मुताबित नक्सलियों की नज़र भागलपुर रेल प्रखंड (Bhagalpur Railway Block) पर बड़ी वारदात करने की है। हाल में ही मुंगेर में बिहार पुलिस ने नक्सलियों के खिलाफ बड़ा मोर्चा खोल रखा है, जिससे स्थानीय नक्सली कमांडरों (Local naxalite commanders) में ज़वाबी हमला करने का दबाव लगातार बढ़ता जा रहा है। ऐसे में भागलपुर-किऊल-झाझा-गया रेलवे रूट पर आईईडी हमले की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता है। पुलिस के अनुसार स्वतन्त्रता दिवस के मौके पर बड़ी वारदात को अन्ज़ाम देकर नक्सली अपने वजूद और वर्चस्व की मौजूदगी (Naxalite existence and presence of dominance) दर्ज करवा सकते है। जिसके रोकने के लिए RPSF और बिहार पुलिस संयुक्त रणनीति बना रहे है।

किसी भी अनहोनी की आंशका को देखते हुए सेना के तर्ज पर रिकॉन्सेंस ग्रुप, एस्कॉर्ट ग्रुप, पेट्रोलिंग दस्ता और हमलावर दस्ते (Reconnaissance group, escort group, patrolling squad and raiding squad) को तैनात कर दिया गया है। फिलहाल आंशका वाले रूट पर लॉकडाउन के चलते कुछ चुनिंदा ट्रेनों का ही परिचालन किया जा रहा है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More