खुलासा: दिल्ली सरकार का घोटाला आया सामने, Corona के 492 मरीज़ हुए गायब

0

कोरोना के बढ़ते मरीजों की संख्या छुपा रही है दिल्ली सरकार?


आखिर कहाँ गये कोरोना के 492 मरीज?

नई दिल्ली: देश में कोरोना (Corona) का कहर आये दिन बढ़ता ही चला जा रहा है। देशभर में अब तक कोरोना के कुल 24,942 मामले सामने आ चुके हैं जिसमें तकरीबन 18953 मामले positive पाये गये है। राजधानी दिल्ली वायरस इन्फेक्शन के मामले में तीसरे पायदान पर है। जहां कोरोना के सबसे ज़्यादा केस पाये गये हैं। लगातार तेजी से बढ़ते हुए आंकड़े कहीं ना कहीं दिल्ली सरकार की लापरवाही की ओर भी इशारा करते नज़र आ रहे हैं।

फ़िलहाल Arvind Kejriwal सरकार की लापरवाही का एक और बड़ा नमूना सामने आया है जहां पर सीएमओ दिल्ली के ट्विटर हैंडल से किये गये ट्वीट ने दिल्ली सरकार को एक बार फिर से सवालों के घेरे में ला खड़ा किया है। दरअसल मामला कुछ ऐसा है कि दिल्ली सरकार के ऑफिशल टि्वटर हैंडल सीएमओ दिल्ली (CMO Delhi) ने एक ट्वीट किया जिसके मुताबिक दिल्ली में कोरोना के कुल मरीजों की संख्या 35,519 हैं। लेकिन अगर दिल्ली सरकार के दिये गये आंकड़ों हिसाब किया जाए तो चौंकाने वाली बात सामने आती है, जिसमें कोरोना के 492 मरीज गायब नज़र आते है।

https://twitter.com/CMODelhi/status/1254081976631545856

दिल्ली सरकार की ओर से जारी किये गये, आंकड़ों के मुताबिक दिल्ली में 25 अप्रैल 2020 तक कुल 35,519 मामले ऐसे थे जिन पर कोरोना टेस्ट किया गया जिनमें से 2,625 मामले पॉजिटिव निकले और 28,693 मामले नेगेटिव निकले वही 3,709 मामलों का नतीजा आना अभी बाकी है।

अगर ऊपर दिए गए आंकड़ों को जोड़ा जाए तो दिल्ली में कोरोना के मरीजो की कुल संख्या 33,027 आती है लेकिन दिल्ली सरकार के ट्वीट के मुताबिक 35,519 मरीजों का टेस्ट किया गया अब सवाल ये उठता है कि आखिर यह 492 मरीज कहां है जिनका सरकार ने टेस्ट किया। क्या दिल्ली सरकार इन आंकड़ों को इरादतन छुपा कर रही है। आंकड़ों के साथ हुई हेराफेरी दिल्ली सरकार की मंशा पर बड़े सवालिया निशान लगाती हैं। इस तरह से गलत आंकड़े सरकार की ओर से आना अपने आप में बड़ी लापरवाही है, वो भी उस वक्त जब पूरा देश गंभीर बीमारी से जूझ रहा हो।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More