World pandemic के बीच भारत को WHO में बड़ी जिम्मेदारी

0

न्यूज डेस्क (भगत सिंह सहरावत): विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organization) के मुख्यालय में अगले महीने होने वाली सालाना बैठक का नेतृत्व करने के लिए भारत तैयार है। रिपोर्टों के मुताबिक 22 मई को होने वाली बैठक में भारत डब्ल्यू.एच.ओ (WHO) कार्यकारी प्रमुख के तौर पर पद ग्रहण करेगा। भारत से पहले इस पद पर जापान कार्यरत था, जिसका 1 साल का कार्यकाल मई महीने में पूरा होने जा रहा है। इस पद के लिए भारत के नाम का अनुमोदन पिछले साल डब्लू.एच.ओ. के दक्षिण-पूर्व एशियाई समूह ने सर्वसम्मति से किया था।

आने वाले 3 सालों तक कार्यकारी बोर्ड की कमान नई दिल्ली के हाथों में रहेगी। गौरतलब है कि डब्ल्यूएचओ के इस समूह ने क्षेत्रीय समूहों के बीच कार्यकारी बोर्ड के अध्यक्ष के पद के लिए भारत के नाम पर मुहर लगाई थी। इस पद पर 1 वर्ष बाद नियमित तौर पर बदलाव किए जाते हैं।

आगामी 18 मई को विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा आयोजित कार्यक्रम में औपचारिक तौर पर कार्यकारी बोर्ड के खाली पड़े पदों के लिए सदस्यों का चुनाव किया जाएगा। मौजूदा हालातों के मद्देनजर कार्यक्रम की समयावधि को छोटा रखा गया है। पहले इस कार्यक्रम की तयशुदा कार्यसूची में 60 विषयों को रखा गया था, लेकिन अब अंतिम तौर पर तीन एजेंडों पर ही विमर्श होगा।

कार्यक्रम के उद्घाटन सत्र की अध्यक्षता महानिदेशक टेड्रोस एडहोनम गैब्रेइयस के वक्तव्य से होगी। कयास लगाए जा रहे हैं कि, संबोधन के दौरान उनका जोर कोरोना वायरस की तैयारियों और मेडिकल रिस्पांस सिस्टम पर रहेगा। जिसके बाद भारत सहित अन्य देशों की कार्यकारी मंडल में सदस्य और अध्यक्ष के तौर पर चुनाव की औपचारिक प्रक्रिया आगे बढ़ेगी।

नामित होने के बाद भारत को विश्व स्वास्थ्य संगठन के इस 34-सदस्यीय कार्यकारी बोर्ड के प्रमुख के रूप में टेड्रोस एडहोनम गैब्रेइयस के साथ मिलकर काम करना होगा। इसके साथ ही संगठन को सभी व्यावहारिक उद्देश्यों के लिए अध्यक्ष मिल जाएगा, जो कि राजनयिक स्तर पर महानिदेशक को अहम फैसले लेने में मदद मुहैया करवाएगा। इसके साथ ही बजट और प्रशासन समिति में भारत इंडोनेशिया की जगह लेगा।

विश्व स्वास्थ्य संगठन के अधिकारी ने दावा किया है कि, Covid-19 बढ़ रहा प्रकोप भारत पारदर्शी और जवाबदेह ढंग से रोक पाएगा और साथ ही विश्व स्वास्थ्य संगठन में सुधार की कवायदों में भी तेजी आएगी।

विश्व स्वास्थ्य संगठन का कार्यकारी बोर्ड
मई 2021 में महानिदेशक टेड्रोस एडहोनम गैब्रेइयस का 5 वर्षीय कार्यकाल समाप्त होने जा रहा है। ऐसे में उम्मीद है कि अगले महानिदेशक के रूप में भारत को जगह मिल सकती है। हेल्थ असेंबली में चुनाव का सामना करने के बाद 34 सदस्यीय कार्यकारी बोर्ड अनिवार्य तौर पर कैंडिडेट का इंटरव्यू लेते हैं। हाल ही में इससे पहले कार्यकारी बोर्ड में महानिदेशक नियुक्ति से से जुड़े मामले देखता था। महानिदेशक द्वारा चयन करने के बाद कैंडीडेट्स का नाम जनरल असेंबली में वोटिंग के लिए भेज दिया जाता है।

कोरोना वायरस (Coronavirus) पर डब्ल्यूएचओ (WHO) का बयान
टेड्रोस एडहोनम गैब्रेइयस ने घोषणा की- वैश्विक स्तर पर संकट इतनी जल्द नहीं फैलेगा। हमें लंबा रास्ता तय करना है जहां गलती की कोई गुंजाइश नहीं है। वायरस इन्फेक्शन लंबे समय तक हमें प्रभावित करता रहेगा। ज्यादातर देशों में इंफेक्शन के हालात अपने शुरुआती दौर में है। दूसरे मुल्क जिस पर इसका असर जल्द हुआ था, अब वो इससे जूझ कर धीरे-धीरे दोबारा अपने कदमों पर खड़े हो रहे हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More