Exclusive: Dr. Lal Path Lab की COVID-19 टेस्ट रिपोर्ट में गड़बड़, कमाया भारी मुनाफ़ा, जाँच के आदेश जारी

0

नई दिल्ली (शौर्य यादव:) दिल्ली सरकार (Delhi Government) के अधिकारियों के मुताबिक शुक्रवार को राष्ट्रीय राजधानी में कोरोनो वायरस (Coronavirus) के कुल मामलों की संख्या 6,318 हो गई, जिसमें 338 नए मामले और हाल में हुई दो मौतें शामिल हैं। दिल्ली के स्वास्थ्य विभाग की और से स्वास्थ्य बुलेटिन जारी करते हुए दावा किया गया कि, फिलहाल राजधानी में 4,230 सक्रिय मामले हैं और अब तक कुल 81,367 COVID-19 परीक्षण किए जा चुके हैं।

साथ ही दिल्ली सरकार की ओर से जारी इस स्वास्थ्य बुलेटिन में “डॉ लाल पैथ लैब (Dr. Lal Path Lab) की रिपोर्ट में आयी बड़ी विसंगतियों के विभिन्न पहलुओं पर गौर करने के लिए जांच समिति गठित करने का आदेश जारी किया गया। दरअसल डॉ लाल पैथ लैब द्वारा की गई COVID-19 टेस्ट की रिपोर्ट में गलत नतीजे सामने आये है। फोर्ब्स (Forbes) में छपी एक खबर के मुताबिक डॉ लाल पैथ लैब के चेयरमैन डॉ.अरविन्द लाल (Dr. Arvind Lal) द्वारा स्थापित भारत की इस मशहूर diagnostics chain के शेयर बुधवार को 1 बिलियन डॉलर के पार पहुँच गये।

डॉ लाल पैथ लैब्स 5,000 पैथोलॉजी और रेडियोलॉजी परीक्षण की सुविधाएं प्रदान करता है, जिसमें COVID-19 परीक्षण भी शामिल हैं। मार्च के आखिरी हफ़्ते में COVID-19 की जाँच के लिए डॉ लाल पैथ लैब को सरकारी मंजूरी मिली थी। हालांकि इससे पहले COVID-19 टेस्ट सिर्फ सरकारी प्रयोगशालाओं और अस्तपतालों में किये जाते थे। जैसे जैसे संक्रमित लोगों की तादाद में इज़ाफा सरकार ने टेस्ट करने के लिए प्राइवेट लैबोरेटीज को भी जांच की मुहिम में शामिल किया। गौरतलब है कि डॉ. लाल पैथ लैब द्वारा प्रतिदिन COVID-19 के लगभग 4,500 टेस्ट किये जा रहे है।

बीते गुरुवार को राष्ट्रीय राजधानी में COVID-19 के 448 नए मामले सामने आये। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के मुताबिक राजधानी में कुल इंफेक्शन के कुल मामले 6,318 हो गये है। इसके साथ ही शुक्रवार को 338 ताजा मामले सामने आए। 66 मौतों के साथ कुल मामलों की संख्या 5,980 रिकॉर्ड की गयी। हाल ही में राजधानी हुई दो मौतों के साथ संक्रमण से मरने वालों की संख्या 68 हो गयी है।

दिल्ली स्वास्थ्य विभाग के बुलेटिन के मुताबिक अब तक दर्ज किए गए कुल 6,318 मामलों में से, 1,275 एलएनजेपी अस्पताल (LNJP Hospital), आरएमएल अस्पताल (RML Hospital), सफदरजंग अस्पताल (Safdarjung Hospital) और राजीव गांधी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल (Rajiv Gandhi Super Specialty Hospital) और एम्स झज्जर (AIIMS Jhajjar) जैसे विभिन्न अस्पतालों में भर्ती हैं, उनमें से 91आईसीयू (ICU) और 18 वेंटिलेटर (Ventilator) पर हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो डॉ लाल पैथ लैब भारत सरकार के वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद (Indian Council of Medical Research) के साथ एक समझौते के माध्यम से दिल्ली में COVID-19 के टेस्ट के लिए एक और अस्थायी लैब संचालित करना चाहता है। फिलहाल ICMR अधिकृत प्रयोगशालाओं द्वारा अनुपालन रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिए एक आदेश जारी किया गया है। जिसमें कहा गया है कि निजी लैब द्वारा COVID​​-19 की जांच की रिपोर्ट 24 घंटे से अधिक लंबित नहीं हो सकती है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.